Top Ads

Recent posts

View all
शाकाहार एवं नशामुक्ति विषय पर अणुव्रत अनुशास्ता के सान्निध्य में सर्वधर्म संगोष्ठी
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय शांतिवन में युगप्रधान आचार्य महाश्रमण जी ने कहा सबके प्रति मैत्री भाव से ही विश्व शांति संभव
प्रभु पार्श्वनाथ की तरह हम भी बने वीतराग – आचार्य महाश्रमण
भौतिकता के लिए नैतिकता को न छोड़े – आचार्य महाश्रमण
शुभ भावों में रहने का करे प्रयास – आचार्य महाश्रमण
दृष्टिकोण हो उदारवादी – आचार्य महाश्रमण
सहनशीलता अपना कर क्रोध से बचे - आचार्य महाश्रमण
अपने ज्ञान का ना हो अहंकार  - आचार्य महाश्रमण
जीने के कला है धर्म  - आचार्य महाश्रमण
अध्यात्म में ध्यान का शीर्ष स्थान  - आचार्य महाश्रमण
बच्चें देश का भविष्य  - आचार्य महाश्रमण
भीतर में जागृत करे ज्ञान का प्रकाश  - आचार्य महाश्रमण
भवसागर से पार पाने करे धर्माराधना - आचार्य महाश्रमण
मनुष्य जीवन दुर्लभ इसे यूं ही ना गवाएं - आचार्य महाश्रमण
संस्कारवान बने बालपीढ़ी - आचार्य महाश्रमण
संयम रहित इंद्रिय दुष्ट घोड़े के समान – आचार्य महाश्रमण
जीवन में वाणी संयम आवश्यक – आचार्य महाश्रमण
श्रवण शक्ति का करे सदुपयोग - युगप्रधान आचार्य महाश्रमण
अणुविभा ने मनाया 41वाँ स्थापना दिवस
अणुव्रत अनुशास्ता आचार्य श्री महाश्रमण जी के सान्निध्य में हुआ अणुव्रत उद्बोधन सप्ताह के बैनर का लोकार्पण