Top Ads

Recent posts

View all
माँ ! यह केवल एक शब्द नहीं अहसास है। अहसास ममत्व का सिंचन का शिक्षण का व शक्तित्व का - साध्वी मौलिकयशा
"अद्वितीय व्यक्तित्व शासन माता का" - साध्वी गुप्तिप्रभा
असाधारण साध्वीप्रमुखा कनकप्रभा का महाप्रयाण अपूरणीय क्षति   - मुनि जिनेश कुमार
158 वां मर्यादा महोत्सव का तृतीय दिवस
158 वां मर्यादा महोत्सव का द्वितीय दिवस
158 वां मर्यादा महोत्सव का प्रथम दिवस
अनुशासन से लोकतांत्रिक प्रणाली हो सकती है बेहतर : आचार्य महाश्रमण
व्यक्ति साधना द्वारा ज्ञान, दर्शन तत्वज्ञान आदि के रूप में निर्मल बनने का प्रयास करे - आचार्य महाश्रमण
जीवन में मर्यादा एवं आचार निष्ठा के प्रति जागरूकता रखनी चाहिए - आचार्य श्री महाश्रमण जी
प्रेक्षाध्यान साधकों को दी आचार्य श्री महाश्रमण जी ने दी ध्यान की प्रेरणा
अणुविभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री संचय जैन व उपाध्यक्ष श्री अविनाश नाहर संगठन यात्रा के तहत पहुँचे हिरियूर
आचार्य श्री महाश्रमण जी के सानिध्य में 157 वें रायपुर मर्यादा महोत्सव का चतुर्थ दिवस