आचार्य महाश्रमणजी के द्विदिवसीय रोहतक प्रवास पर विविध आयोजन


25 मई 2014 रोहतक  : जैन तेरापंथ न्यूज़ 
जैन श्वेतांबर तेरापंथ धर्म संघ का दो दिवसीय विशेष आयोजन 


अणुव्रत प्रवर्तक आचार्य तुलसी के शताब्दी वर्ष पर अणुव्रत की गूंज रोहतक में भी सुनाई देगी। श्री जैन श्वेतांबर तेरापंथ धर्म संघ की ओर से रोहतक में २५ मई से दो दिवसीय विशेष आयोजन रखा गया है, जिसमें तेरापंथ धर्म संघ के ग्यारहवें अधिशास्ता युवा मनीषी आचार्य श्री महाश्रमणजी एवं महाश्रमणी साध्वी प्रमुखा श्री कनकप्रभाजी अपनी धवल सेना के साथ रोहतक में पधारेंगी। इस मौके पर स्वागत यात्रा, प्रवचन, तेरापंथ किशोर मंडल का ९वां राष्ट्रीय अधिवेशन के साथ ही अखिल भारतीय तेरापंथी युवक परिषद राष्ट्रीय कार्यकारिणी की संगोष्ठी होगी।


आचार्य श्री महाश्रमण राजस्थान,पंजाब के बाद हरियाणा की पद यात्रा पर हैं। यात्रा का प्रमुख उद्देश्य आचार्य तुलसी के अणुव्रत यानी नैतिक मूल्यों की प्रतिष्ठा के प्रति जनसामान्य को प्रेरित करना है।

इस मौके पर तेरापंथ किशोर मंडल का ९वां राष्ट्रीय अधिवेशन होगा। इसमें देश के विभिन्न प्रांतों से किशोर उम्र के लगभग २५० बच्चे शामिल होंगे। इस दौरान उनसे व्यक्तित्व विकास, जीवन में सदैव अग्रणी रहने, अध्यात्म एवं देश सेवा के संदर्भ में गंभीर चर्चा की जाएगी। इसी क्रम में अखिल भारतीय तेरापंथी युवक परिषद के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की संगोष्ठी होगी।

25 मई 2014 रोहतक 
शुद्ध आचरण ही धर्म : चंदन बाला
रोहतक। आचरण की शुद्धि एवं नैतिकता ही धर्म है। आज के परिवेश में जब धर्म के नाम पर ङ्क्षहसा होती है तो दु:ख होता है। संप्रदाय में मनुष्यता को बांटना असंभव है। संप्रदाय तो छिलका है। मूल तत्व तो धर्म ही है। आचार्य श्री महाश्रमण जी के विशेष आयोजन में रोहतक पहुंची जैन साध्वी चंदन बाला ने ये विचार भास्कर से बातचीत में व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि जैन धर्म जन धर्म है। महावीर के शाश्वत मूल्य का मतलब मनुष्य के बीच बराबरी का भाव है। जाति, संप्रदाय, लिंग, रंग आदि भेदों से मुक्त समाज की स्थापना के लिए हम सब संकल्पित हैं। मानवीय मूल्यों की प्रतिष्ठा करना ही जैन धर्म का लक्ष्य है। इसी उद्देश्य के लिए आचार्य तुलसी ने अणुव्रत आंदोलन चलाया। उनके शताब्दी वर्ष पर इसी लक्ष्य को लेकर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।
आज से होगा संतों का आगमन
दो दिवसीय समारोह के लिए वैश्य एजूकेशन सोसायटी के परिसर में भव्य पंडाल बनाया जा रहा है। जहां पर अतिथियों के स्वागत सत्कार का प्रबंध किया जाएगा। मीडिया प्रभारी राजीव जैन ने दी। उन्होंने बताया कि शहर में झज्जर रोड के मोड़, भिवानी चुंगी, दिल्ली रोड, अप्रोच रोड के पुल के पास एवं आईटीआई के पास स्वागत गेट बनाया जा रहा है। २३ मई को भारी संख्या में संतों का रोहतक में आगमन हो रहा है।

पूज्य प्रवर धवल सेना के साथ  रोहतक (हरियाणा) की ओर विहार का दृश्य 

Related

News 6564179923236340930

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item