व्यापारी अणुव्रत को अपना प्रमाणिक बने

मुम्बई:- अणुव्रत महासमिति निर्देशित एवं अणुव्रत समिति मुंबई के तत्वाधान में अणुव्रत उपसमिति उत्तर मुंबई 2 द्वारा तेरापंथ भवन भाईन्दर में मुनिश्री संजय कुमारजी मुनिश्री प्रसन्न कुमारजी मुनिश्री प्रकाश कुमारजी और समण सिद्धप्रज्ञ जी के सानिध्य में "उधोगपति एवं व्यापारी अणुव्रत" विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया।
2 चरण में चले इस कार्यक्रम में अध्यक्षता अणुव्रत महासमिति के अध्यक्ष डालचंद जी कोठारी ने की। मुख्य अतिथि FAM फ़ेडरेशन ऑफ़ महाराष्ट्र के अध्यक्ष मोहन जी गुरनानी और मुख्य वक्ता समाजसेवी एवं उधोगपति अशोक जी बाफना थे। कार्यक्रम में आल इन्डिया रेडियो एन इलेक्ट्रिकल के मंत्री मितेश जी मोदी युवा फाम से मितेश जी प्रजापति अणुव्रत समिति मुंबई के अध्यक्ष गणपत जी डागलिया सहमंत्री निर्मल जी जैन संगठन मंत्री पारस जी कच्छारा वसई इंडस्ट्रियल वेलफेयर के अध्यक्ष सुनील जी कोठारी मीरा भाई ज्वेलर्स असोसिएशन के अध्यक्ष भंवर जी मेहता उपस्थित थे।
मंगलाचरण निर्मलजी जैन द्वारा अणुव्रत गीत के संगान से किया गया।
स्वागत भाषण तेरापंथ सभा भाईन्दर के अध्यक्ष मोतीलाल जी दुग्गर ने दिया।मुनिश्री प्रसन्न कुमारजी ने अनुव्रत क्या है और कैसे अपने जीवन में उतारे उस पर मंगल पाथेय दिया।
                  मुनिश्री संजय कुमारजी ने अणुव्रत के द्वारा जीवन में प्रमाणिकता ईमानदारी केसे आये उस पर प्रकाश डाला
                  मुख्य वक्ता अशोक जी बाफना ने कहा की प्रमाणिक बनने से कुछ समय तक समस्या आ सकती हे पर एक बार जब पता चल जाता हे की आप प्रमाणिक हे तो आपकी मार्केट में अलग और स्वस्थ पहचान बन जाती है।
मुख्य अतिथि मोहन जी गुरनानी ने कहा आप प्रमाणिक बनिए और यदि कोई आपसे मिलवट करने को या कोई गलत रूप से व्यापार करने को कहे तो हमें बताए हम उसके खिलाफ कार्यवाही करेंगे। अणुव्रत महासमिति के अध्यक्ष डालचंद जी कोठारी ने लोगो को अणुव्रत से जुड़ने और जोड़ने को कहा। अणुव्रत समिति के अध्यक्ष गणपत जी ने ईमानदारी और नैतिकता को अपनाने पर जोर दिया।
व्यापारीअणुव्रत को समझकर व्यापारीयो ने व्यापारी अणुव्रत फॉर्म सहज ही भर दिए। कार्यक्रम में मीरारोड से विरार तक के व्यापारी कार्यकर्ता आये थे।कार्यक्रम में मितेश जी मोदी कनक जी सिंघी ने अपने विचार अभिव्यक्त किये।
कार्यक्रम का सञ्चालन अणुव्रत उपसमिति उत्तर मुंबई 2 की संयोजिका करुणा कोठारी ने किया एवं आभार सह संयोजिका किरण हिंगड ने व्यक्त किया।
द्वितीय चरण में खुला सत्र का आयोजन किया गया जिसमे मोहन जी गुरनानी मितेश जी मोदी मितेश जी प्रजापति अशोक जी बाफना सुनील जी कोठारी डालचंद जी कोठारी गणपत जी डागलिया ने व्यापारियों की बातो को सुना समस्याओ को जाना और समाधान किया। कार्यक्रम में विशेष सहयोग तेरापंथ सभा युवक परिषद् महिला मंडल भाईन्दर का रहा।

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item