मानव जीवन सफल बनाएं : आचार्य श्री महाश्रमण

हंडिया । 17 फरवरी । (JTN) आज अपने हंडिया प्रवास के दौरान आचार्य श्री महाश्रमणजी ने हरप्रतापसिंह यादव महाविद्यालय परिसर में प्रवचन करते हुए फ़रमाया कि- मनुष्य का जीवन अनित्य होता है । कोई भी प्राणी शाश्वत नहीं है । जन्म लेने वाले का अवसान भी होता है । अवसान होना निश्चित है पर अवसान कब होगा यह निश्चित नहीं । जन्म और अवसान के बीच के इस जीवन को हमें सफल बनाना चाहिए । उन्होंने फ़रमाया कि- इस दुर्लभ मानव जीवन को सफल बनाने के लिए जिनेन्द्र पूजन, गुरु उपासना, मैत्री भावना, गुणानुराग, आगमवाणी श्रवण व सुपात्र दान करना चाहिए । 
पूज्यप्रवर के स्वागत में महाविद्यालय की ओर से प्रवक्ता श्री संतोष यादव ने स्वागत उद्गार व्यक्त किए ।

साध्वीप्रमुखाश्री कनकप्रभाजी सहित साध्वियों ने मार्ग में पूज्यप्रवर की वंदना की ।

उत्तरप्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश श्री शशिकान्त शर्मा ने मार्ग में पूज्यवर के दर्शन कर स्वयं में धन्यता का अनुभव किया ।

हठयोगी संन्यासी जो कि लोट कर अयोध्या की यात्रा में जा रहे है, उन्होंने मार्ग में पूज्यप्रवर के दर्शन कर प्रसन्नता व्यक्त की । 

Related

Pravachans 8895893899658207190

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item