इचलकरंजी में हर्षोल्लास के साथ मनी महावीर जयंती

इचलकरंजी । 3 अप्रैल । मुनि श्री प्रशांतकुमारजी के सानिध्य में भगवान महावीर के जन्मोत्सव का विशेष कार्यक्रम तेरापंथ भवन इचलकरंजी में आयोजित किया गया । कार्यक्रम में उपस्थित जन समुदाय को संबोधित करते हुए मुनि श्री प्रशांतकुमारजी ने कहा महावीर के विचार और सिद्धांत आज पूरी दुनिया में मान्य हो रहे हैं। स्वतंत्रता, सापेक्षता, समन्वय, सहयोग, समता और सहिष्णुता ये सब महावीर दर्शन के मूल सिद्धांत रहे हैं। इन्हें अंगीकार कर चलना हर राष्ट्र के सभ्य नागरिकों के लिए आज आवश्यकता हो गया है। भगवान महावीर को आज सीमित दायरे से मुक्त कर व्यापक क्षेत्र में लाने की जरुरत है। महावीर स्वामी स्वयं क्षत्रिय थे, उनके अधिकांश शिष्य ब्राम्हण और क्षत्रिय थे। दीन दलितों  में उन्होंने आत्मिक जोश जगाकर स्वाभिमान के साथ पुनः खड़ा किया था। आज जैन धर्म को वैश्य समाज तक सीमित कर दिया गया। मुनि श्री ने मैनेजमेंट के सिद्धांतों की चर्चा करते हुए कहा आत्मविश्वास विल पावर एकाग्रता लक्ष्य निर्धारण जैसे सफलता प्राप्ति के ओर सेल्फ मनेजमेंट के सूत्र आज पढ़ाए सिखाए जाते हैं। जिनका मूल आधार महावीर वाणी और महावीर दर्शन में उपलब्ध होता है। भगवान महावीर के सिद्धांत आज के समय में बहुत अधिक प्रासंगिक हैं। मुनि श्री कुमुद कुमार ने कहा भगवान महावीर ने सबसे पहले स्वतंत्रता का अभियान चलाया था। दास प्रथा जैसी अमानवीय कुरीतियों का उनहोंने तीव्र विरोध किया था। उनहोने कहा था हर मनुष्य को स्वतंत्रता से जीने का अधिकार है। प्रभु महावीर ने कहा तुम स्वयं सत्य की खोज करो। अपने विचार का तुम जितना सम्मान करते हो दूसरों के विचारों का भी उतना ही सम्मान करो। मुनि श्री नरेश कुमार ने कहा भगवान महावीर ने साधना काल में भयानक कष्टों को सहन किया था। मनुष्य एवम देवताओं ने भी उन्हें अनेक प्रकार से भयंकर कष्ट दिए किंतु महावीर अविचल बने रहे। उनहोंने कष्ट देने वालों पर भी करुणा की वर्षा की।
इस पुनीत अवसर पर जयसिंगपुर, कोल्हापुर, सांगली, माधवनगर, कर्नाटक के सिंधनुर, गदग, सौदन्ती आदि क्षेत्रों से भी श्रावक श्राविकाएं उपस्थित थे। 
तेरापंथ महिला मंडल ने मंगलाचरण किया । तेरापंथ सभा इचलकरंजी अध्यक्ष जैसराज छाजेड़, तेरापंथ युवक परिषद् के मंत्री विकास सुराणा, महिला मंडल की अध्यक्षा सुनीता गिडिया, उत्तरी कर्नाटक एरिया समिति के मंत्री महेंद्र चोपड़ा, उपाध्यक्ष गौतम नाहर सिंह, महिला मंडल सिंधनुर की मंत्री वैशाली नाहर, जयसिंहपुर तेरापंथ समाज की ओर से विजय सिंह रुणवाल आदि अनेक वक्ताओं ने अपने भावपुर्ण विचार प्रकट किए। सिंधनुर से समागत प्रज्ञा कोटेचा, खुशी बोहरा, मुकेश भंडारी आदि ने गीतिकाएं प्रस्तुत की । इस अवसर पर महिला मंडल द्वारा विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं एवम प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया तेरापंथ सभा इचलकरंजी की ओर से बाहर से आए अतिथियों पदाधिकारियों आदि का साहित्य द्वारा सम्मान किया गया। तेयुप द्वारा मेगा ब्लड डोनेशन कार्यक्रम में विशिष्ट सहयोग देने वाली विभिन्न संस्थाओं को मोमेंटो भेंट कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का सुन्दर संचालन सभा के मंत्री श्री पुष्पराज संकलेचा ने किया। 
तेयुप उपाध्यक्ष संजय वैदमेहता ने अधिक जानकारी देते हुए बताया कि-दोपहर में सकल जैन समाज की अहिंसा रैली में तेयुप द्वारा षट्काय पर झांकी प्रस्तुत की गयी जिसने तृतीय स्थान अर्जित किया। रात्रि कालीन सत्र में महावीर जीवन झाँकी कार्यक्रम आयोजित किया गया। महावीर भगवान की जन्म, दीक्षा, साधना, केवल ज्ञान, मोक्ष आदि विभिन्न प्रसंगों को संगीतमय झांकियो के साथ प्रस्तुत किया गया। आकर्षक प्रस्तुतियों ने सभी का मन मोह लिया। रात्रि कालीन कार्यक्रम का संचालन दिनेश छाजेड़ ने किया। 











Related

Local 3604379954862855031

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item