तेयुप उधना द्वारा व्यक्तित्व विकास कार्यशाला

अखिल भारतीय तेरापंथ युवक परिषद् के तत्वावधान में तेरापंथ युवक परिषद् उधना द्वारा अपने रजत जयंती वर्ष के शुभारम्भ के अवसर पर साध्वी श्री कैलाशवती जी के सान्निध्य में गुजरात स्तरीय व्यक्तित्व विकास कार्यशाला-"समय प्रबंधन" का आयोजन 15 अगस्त को तेरापंथ भवन उधना में किया गया । 

गुजरात भर से आये 16 शाखा परिषदों के लगभग 500 संभागियों को प्रेरणा पाथेय प्रदान करते हुए साध्वीश्री कैलाशवतीजी ने युवाओं को अपने जीवन को रजत की तरह उज्जवल बनाने की प्रेरणा दी एवं जीवन में सफलता हेतु समय प्रबंधन को महत्वपूर्ण बताया ।

इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारम्भ साध्वी श्री द्वारा नमस्कार महामंत्र के उच्चारण के साथ हुआ । तेयुप उधना के सदस्यों ने विजय गीत का संगान किया । अभातेयुप के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अविनाश नाहर ने बैनर तथा तेयुप उधना के रजत जयंती वर्ष के लोगो का अनावरण किया और कायर्शाला प्रारम्भ की घोषणा की । राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अविनाश नाहर ने श्रावक निष्ठा पत्र का वाचन किया । उधना तेयुप के अध्यक्ष श्री मुकेश बाबेल ने अपने स्वागत वक्तव्य में आगुन्तक अतिथियों और कार्यशाला संभागियों का स्वागत किया । 

कार्यशाला के मुख्य वक्ता अभातेयुप के पूर्व उपाध्यक्ष श्री राजीव छाजेड़ ने अपने वक्तव्य में व्यक्तित्व विकास के गुर बताते हुए कहा कि- व्यक्तित्व विकास की पहली शर्त है आप स्वयं हल्के रहें , तनाव न लें , चेहरे पर हमेशा मुस्कान रखें । 

साध्वी श्री पंकज श्रीजी ने अपने उद्बोधन में कहा- युवा शब्द का उल्टा करें तो वायु होता है । वायु में इतनी शक्ति होती है कि वह पर्वत को भी हिला दे। उसी प्रकार युवा शक्ति भी कोई भी कार्य कर सकती है । साध्वीश्री ने मंगलकामना करते हुए कहा कि रजत जयंती वर्ष पर तेयुप उधना पूज्य प्रवर के इंगित अनुसार चलते हुए नित नए आयाम स्थापित करें और परिषद् के युवा दिमाग में आइस फैक्ट्री और मुँह में शुगर फैक्ट्री स्थापित करें । 

राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अविनाश नाहर ने अपने ओजस्वी वक्तव्य में उधना परिषद् के द्वारा अमृत महोत्सव के समय मेवाड़ में चलाये गए नशा मुक्ति अभियान का जिक्र करते हुए साधुवाद दिया । तेयुप उधना के संस्थापक अध्यक्ष स्व. श्री मानक चंद जी याद करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि 25 वर्ष पूर्व उन्होंने कितना श्रम किया होगा जिसके परिणामस्वरुप आज उधना परिषद् आज इस मुकाम तक पहुंची है । उन्होने अभातेयुप के मीडिया उपक्रम JTN का विशेष उल्लेख करते हुए कहा कि उस समय तो JTN भी नहीं था और आज जिस तरह JTN की पूरी टीम जो संघीय समाचारों के प्रचार प्रसार का कार्य कर रही है वह सराहनीय है ।उन्होंने मंगलकामना की कि तेयुप उधना अपने कार्यों द्वारा दुसरी परिषदों के लिए उदाहारण बने । उन्होंने युवकों को अर्हत वन्दना एवं प्रतिक्रमण कंठस्थ करने का आह्वान किया । अभातेयुप के तत्वावधान में देश के विभिन्न शहरों में हॉस्टल निर्माण की जानकारी प्रदान करते हुए श्री अविनाश नाहर ने बंगलोर में बनने वाले प्रथम हॉस्टल की जानकारी दी । सूरत परिषद् द्वारा ब्लड बैंक बनाने की जानकारी भी प्रदान की । 

इस अवसर पर तेरापंथ सभा उधना से श्री नविन पोकरणा एवं महिला मंडल उधना से अध्यक्षा श्रीमती मंजू देवी नौलखा ने परिषद् को रजत जयंती वर्ष की शुभकामनाएं संप्रेषित की । कार्यक्रम के केंद्रीय संयोजक श्री अनिल चंडालिया ने उधना परिषद् को रजत जयंती वर्ष की बधाई दी और उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं प्रेषित की ।परिषद् के प्रभारी श्री मुकेश गुगलिया ने तेयुप उधना के समर्पण भाव की प्रशंसा करते हुए कहा कि परिषद् ने अपने कार्यकर्ताओं के समर्पण भाव से ही ऊंचाइयों को छुआ है । तेयुप उधना के पूर्व अध्यक्ष एवं श्रेष्ठ कार्यक्रता श्री सम्पत आंचलिया ने तेयुप उधना के 25 वर्षों के स्वर्णिम इतिहास का ब्यौरा पेश किया । 

द्वितीय सत्र:
द्वितीय सत्र में मुख्य वक्ता श्री राजीव छाजेड़ ने समय प्रबंधन के गुर सिखाये ।

तृतीय सत्र :
साध्वी श्री ललिता श्री जी, साध्वी श्री शारदा प्रज्ञा जी एवं साध्वी श्री सम्यक्तवयशा जी के प्रासंगिक वक्तव्य हुए । अभातेयुप के उपाध्यक्ष श्री नरेंद्र मांडोतर ने व्यक्तित्व विकास के गुर बताये ।

समापन सत्र:
तेयुप बारडोली की नव गठित कार्यकारिणी को राष्ट्रिय अध्यक्ष श्री अविनाश नाहर ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई । गुजरात भर से समागत 16 परिषदों का परिचय एवं सम्मान किया गया । आभार ज्ञापन तेयुप उधना के अध्यक्ष श्री मुकेश बाबेल ने किया । रिपोर्ट: पवन फूलफगर, आदर्श संघवी, विशाल पारीख










Related

Local 1187370438304959494

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item