आचार्य तुलसी सम्मान समारोह : कांदिवली

Aachary Tulsi Pratibha Samman Samaroh held
 and Terapanth Bhavan, Kandivali. Mumbai.
कांदिवली, मुंबई, आचार्य महाश्रमण की विदुषी शिष्या साध्वी श्री सरस्वती जी  एवम् साध्वी श्री सोमलताजी  के सानिध्य में तथा तुलसी महाप्रज्ञ विचार मंच के तत्वावधान मे राजकुमार पुगलिया द्वारा आयोजित "आचार्य तुलसी सम्मान समारोह" मुख्य अतिथि गुजरात के राज्यपाल महामहिम ओम प्रकाश कोहली, माननीय पर्यावरण मंत्री रामदास कदम की उपस्थिति में आयोजित हुआ। 2017 का यह सम्मान प्रतिभा सम्पन्न कुशल पत्रकार प्रकाश दुबे को राज्यपाल ओ.पी.कोहली  के करकमलो द्वारा दिया गया। यह सम्मान उस व्यक्ति को दिया जाता है जो सकारात्मक उदेश्यो को ईमानदारी व् निष्पक्षता के साथ अपनी लेखनी से जन जन तक पहुचता है ।
विशाल सभा को संबोधित करते हुए साध्वी श्री सरस्वती ने कहा -आचार्य तुलसी बीसवी सदी के महान संत थे ।वे शीर्षस्थ साहित्यकार थे | उनके साहित्य में सत्य का जिवंत दर्शन था ।उन्होने पत्रकारो की ओर इंगित करते हुए कहा -पत्रकार के हाथ में जादू होता है उनकी उंगलियो का स्पर्श पाकर शब्द भी निखर जाते है ।पत्र के मुखपृष्ठ पर संकीर्ण व् हिंसात्मक घटनाओ को हटाकर महापुरुषो  के वाक्य अंकित हो जिसे पढ़कर एंड्रोकिन रसायन पैदा हो सके । साध्वी सोमलताजी ने अपने संभाषण में कहा -आचार्य तुलसी मानवता के मसीहां थे ।उन्होंने आज़ादी  के मद से जनता स्वछन्द न हो जाये इसके लिए एक आचार संहिंता  का निर्माण किया।दुनिया की बड़ी ताकत है -कलम । पत्रकार अपने शुद्ध विचारो से कलम द्वारा दुनिया का नक्शा बदल देता है ।स्वच्छ भारत की कल्पना शुद्ध विचारो से संभव है ।

गुजरात राज्यपाल महामहिम ओम प्रकाश कोहली  ने कहा -आचार्य तुलसी उच्च कोटि के दार्शनिक, गूढ़ विचारक, महान चिंतक थे । उनके नाम पर यह सम्मान समारोह आयोजित हो रहा है। यह कार्यक्रम एक सन्देश देता है कि लेखक अपनी लेखनी  का सही उपयोग करे। सही मार्गदर्शन करे। पर्यावरण मंत्री माननीय रामदास कदम ने कहा -मै आचार्य तुलसी का पक्का सेवक हु । मै पूर्णत शाकाहारी हु। मुख्यमंत्री माननीय देवेन्द्र फड़णवीस ने अपना लाइव सन्देश मोबाईल के जरिये पेश करते हुए कहा - मै मानता हु की आचार्य तुलसी सम्मान से अच्छा कोई और सम्मान नही हो सकता। नवनीत पत्र के संपादक विश्वनाथ सचदेव ने कहा -देश  का चौथा स्तम्भ है पत्रकारीता ।आचार्य श्री तुलसी ने पत्रकारिता को महत्वपूर्ण  स्थान दिया ।नूतन सवेरा  के संपादक नन्दकिशोर चोटियाल  ने कहा -तेरापंथ में एक ऐसा व्यक्ति जो अभी दुनिया में नही मगर वो मेरे साथ है, वैसे महान आचार्य श्री तुलसी ने मुझे नास्तिक से आस्तिक बना दिया।
ETV के  हेड जगदीशचन्द्र ने जनता को विश्वास दिलाते हुए कहा - ETV हमेशा आचार्य तुलसी के संदेशो के  अवदानों को आगे बढ़ाएगा । सम्मान प्राप्तकर्ता प्रतिभा संपन्न एडिटर्स गिल्ड ऑफ़ इंडिया के महासचिव एवम् दैनिक भास्कर के समूह संपादक श्री प्रकाश दुबे ने कहा यह सम्मान मेरा नही मेरे सदसंकल्प का है। तुलसी महाप्रज्ञ मंच के अध्यक्ष राजकुमार फुगलिया ने अभ्यागत विशिष्ठ अतिथियों का तह दिल से स्वागत किया पुलिस बैंड द्वारा स्वागत धुन से समारोह का उद्घाटन हुआ । सुमधुर गायिका मीनाक्षी भूतोड़िया के मंगल गीत से कार्यक्रम का शुभारम्भ हुआ। भारत जैन महा मंडल, तेरापंथ सभा, तेरापंथ महिला मंडल द्वारा महामहिम राज्यपाल का मोमेन्टो व् शॉल द्वारा सम्मान किया गया । राजकुमार पुगलिया द्वारा सभी विशिष्ठ अतिथियों साहित्य द्वारा सम्मान किया गया। कार्यक्रम का संचालन अवदेश व्यास ने किया । पुलिस बैंड द्वारा राष्ट्रगान से समापन हुआ।


रिपोर्ट साभार : प्रीतम हिरन , टाइप सेटिंग : अनीता सियाल 

Related

Mumbai 5239865636350316737

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item