Top Ads

महासभा की जैन तेरापंथ कार्ड एवं संपोषण योजना का शुभारम्भ

19 जुलाई, 2016. गुवाहाटी। जैन श्वेताम्बर तेरापंथी महासभा के द्वारा सभी तेरापंथी भाई- बंधुओं को जोड़ने और विकास के पथ पर साथ आरूढ़ करने के लिए एक महत्वाकांक्षी योजना का आगाज आज तेरापंथ स्थापना दिवस के शुभ अवसर पर परमपूज्य आचार्यप्रवर की पावन सन्निधि में किया गया। महासभा की योजना जैन तेरापंथ कार्ड और सम्पोषण परियोजना के बारे में महासभा के अध्यक्ष किशनलाल डागलिया; महामंत्री प्रफुल्ल बेताला; जैन तेरापंथ कार्ड के संयोजक विकास पुगलिया; प्रधानन्यासी हंसराज बेताला ने अपने विचारों की अभिव्यक्ति दी।


जैन तेरापंथ कार्ड के प्रथम नम्बर 1 और 13 नम्बर प्राप्तकर्ता क्रमशः हंसराज बेताला और भागचंद बरड़िया के साथ महासभा के पदाधिकारियों ने कार्ड का लोकार्पण किया और दोनों प्रथम कार्डधारकों को कार्ड सुपुर्द किया। इसी प्रकार ’’सम्पोषण परियोजना ’’ का महासभा के पदाधिकारियों द्वारा शुभारम्भ किया गया।

महासभा की गतिविधियों में उन्मेष आ रहा है : पूज्यप्रवर

मुख्य प्रवचन कार्यक्रम के पश्चात पूज्यवर ने फरमाया कि जैन श्वेताम्बर तेरापंथी महासभा की गतिविधियों में उन्मेष आ रहा है। नई योजना, नया चिंतन सामने आ रहा है। जैन कार्ड योजना आई है। समाज को संगठित रखने के लिए, सुव्यवस्थित रखने के लिए और सार- संभाल अच्छी तरीके से हो सके , इस दृष्टि से इसका महत्व है। पूज्यवर ने सम्पोषण योजना के लिए फरमाया कि समाज है तो सम्पोषण भी चाहिए। समाज को पोषण मिलने से फिर समाज कुछ करने की स्थिति में हो सकता है। महासभा खूब अच्छा आध्यात्मिक काम करती रहे, यह काम्य है। महासभा के कोषाध्यक्ष रमेश जी सुतरिया ने आभार ज्ञापन किया।



Post a Comment

16 Comments

  1. समस्त तेरापंथ समाज के लिये एक ही शब्द हे प्रभु ये तेरा पंथ । समस्त समाज को अग्रेषित करने के लिए एक नयी पहल एवं अच्छी सोच के लिए कोटि कोटि वंदन ।

    ReplyDelete
  2. समस्त तेरापंथ समाज के लिये एक ही शब्द हे प्रभु ये तेरा पंथ । समस्त समाज को अग्रेषित करने के लिए एक नयी पहल एवं अच्छी सोच के लिए कोटि कोटि वंदन ।

    ReplyDelete
  3. दूरगामी सोच के लिए टीम महासभा को बधाई।

    ReplyDelete
  4. दूरगामी सोच के लिए टीम महासभा को बधाई।

    ReplyDelete
  5. एक गुरु एक पंथ के आधार पर जैन कार्ड समाज को एक सुत्र में पिरोय जाने की अनुठी योजना है निस्संदेह इस योजना से समाज एक नए कृतिमान को स्थापित करेगा।जिससे राष्ट्र के साथ समाज का भी विकास सम्भव होगा।

    ReplyDelete
  6. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  7. एक गुरु एक पंथ के आधार पर जैन कार्ड समाज को एक सुत्र में पिरोय जाने की अनुठी योजना है निस्संदेह इस योजना से समाज एक नए कृतिमान को स्थापित करेगा।जिससे राष्ट्र के साथ समाज का भी विकास सम्भव होगा।

    ReplyDelete
  8. एक गुरु एक पंथ के आधार पर जैन कार्ड समाज को एक सुत्र में पिरोय जाने की अनुठी योजना है निस्संदेह इस योजना से समाज एक नए कृतिमान को स्थापित करेगा।जिससे राष्ट्र के साथ समाज का भी विकास सम्भव होगा।

    ReplyDelete
  9. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  10. श्याम जैन पत्रकार, राजगढ़ {चूरू} 9414465264September 7, 2016 at 10:40 AM

    तेरापंथ कार्ड वास्तव में एक विशिष्ठ और महत्वकांक्षी योजना है, मगर माफ़ी चाहते हुए यह भी कहना चाहूंगा कि अन्य योजनाओं की तरह इसका भी वैसा हश्र नहीं हो जाये,, कि इसकी उपयोगिता एवं वास्तविक लक्ष्य के मायने ही बदल जाएँ, साथ ही मैं महासभा को एक और भी सुझाव देना चाहता हूँ कि राजनीती से पर रह कर सभा और समाज के संगठनात्मक ढांचे की और विशेष ध्यान दिया जाये, इसे मजबूत किया जाये, ॐ अर्हम,, श्याम जैन पत्रकार, राजगढ़ {चूरू} 9414465264

    ReplyDelete
  11. है प्रभु यह तेरापंथ


    दिलीप डाकलिया
    पूर्णियाँ, बिहार

    ReplyDelete

Leave your valuable comments about this here :