अखिल भारतीय तेरापंथ युवक परिषद् द्वारा रचा गया नव इतिहास

जैन तेरापंथ धर्म संघ के ११वें आचार्य श्री महाश्रमण जी की प्रेरणा से
अखिल भारतीय तेरापंथ युवक परिषद् द्वारा रचा गया नव इतिहास

देश विदेश में 330 से अधिक स्थानों पर एक साथ एक लाख से अधिक सामूहिक सामायिक, दर्ज हुआ रिकॉर्ड

जैन धर्म के महत्वपूर्ण पर्व पर्युषण के उपलक्ष में अभातेयुप के आह्वान पर एवं स्थानीय तेरापंथ युवक परिषदों के माध्यम से दिनांक 1 सितम्बर को सुबह 9 बजे से 12 बजे तक भारत देश सहित नेपाल एवं भूटान के 330 स्थानों पर सामूहिक समायिक का आयोजन किया गया था | जिसमे करीब 137000 से भी अधिक सामायिक की संख्या दर्ज हुयी थी |
गुवाहाटी में चातुर्मास हेतु बिराज रहे परम पूज्य आचार्य श्री महाश्रमण जी के सान्निध में ९६०० से अधिक सामायिक हुए थे |
इस अवसर पर अखिल भारतीय तेरापंथ युवक परिषद् के अध्यक्ष श्री बी.सी. भलावत ने तेरापंथ धर्मसंघ की युवा शक्ति को इस महान आध्यात्मिक कार्य को सफल बनाने के लिए शुभकामनाएँ प्रेषित करते हुए कहा कि अखिल भारतीय तेरापंथ युवक परिषद् ने पुनः एक बार तेरापंथ धर्मसंघ का नाम विश्व पटल पर अंकित किया है | राष्ट्रीय महामंत्री श्री विमल कटारिया ने देश विदेशों में हुए सामूहिक सामायिक की जानकारी देते हुए कहा की करीब 330 सेन्टर में 137682 सामयिक हुई थी | जिसका नाम ऐशिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में और इंडिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में दर्ज करवाया जायेगा |

सामायिक दिवस की अधिक फोटो देखने के लिए हमारे ऑफिसियल फेसबुक पेज की निचे दी गयी लिंक पर क्लिक करे. 


Akhil Bhartiya Terapanth Yuvak Parishad had official attempt for the Asia Book of Record and India Books of Record of Samuhik Samayik at Multi Location. 137682 Samayik has Done through out the India, Nepal and Bhutan.


प्रस्तुति : अभातेयुप जैन तेरापंथ न्यूज़ 

Related

featured 7895874416117106543

Post a Comment Default Comments

  1. It's great achievement. We are proud to be Terapanthi jain . We are united as we have one guru one vidhan abhay Chandalia

    ReplyDelete

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item