सरगम ग्रैंड फिनाले का भव्य आयोजन मुंबई में संपन्न

- विकास सिंघी, राहुल बैद एवं नवीन नाहटा क्रमशः रहे विजेता -
- कार्यक्रम को चार चाँद लगाने पहुंचे देश भक्ति गीतों के सरताज़ रूपकुमार राठौड़ -
- तीन हजार की जनमेदिनी के चरम उत्साह के साथ अभातेयुप का आयोजन बना ऐतिहासिक -

          मुंबई। 2 अप्रैल। अखिल भारतीय तेरापंथ युवक परिषद द्वारा तेरापंथ की सुरीली प्रतिभाओं को समाज के सम्मुख लाने हेतु आयोजित सरगम प्रतियोगिता के ग्रैंड फिनाले का भव्यातिभव्य आयोजन मुंबई माटुंगा स्थित षण्मुखानंद सभागार में रविवार 2 अप्रैल की शाम संपन्न हुआ। अभातेयुप अध्यक्ष श्री बी सी भलावत की अध्यक्षता, मुख्य अतिथि एवं कार्यक्रम प्रायोजक श्री रमेश धाकड़, विशिष्ट अतिथि एवं सुप्रसिद्द गायक श्री रूपकुमार राठौड़, देश भर से समागत अभातेयुप पदाधिकारी एवं राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य गण, महासभा, महिला मंडल, TPF, अणुव्रत समितियों एवं मुंबई की संघीय संस्थाओं के पदाधिकारी गण आदि की उपस्थिति में आयोजित इस कार्यक्रम में लगभग 3000 श्रोताओं की उपस्थिति से खचाखच भरे हॉल में सभी का उत्साह देखते ही बन रहा था। 

           अपनी सुरीली एवं मनमोहक गायकी की बदौलत दिल्ली के श्री विकास सिंघी ने सरगम ग्रैंड फिनाले के प्रथम विजेता बने। दूसरे एवं तीसरे स्थान पर क्रमशः दिल्ली के श्री राहुल बैद एवं कोयम्बटूर के श्री नवीन नाहटा रहे। देश भर में पूर्व में आयोजित झोनल राउंड, क्वार्टर फाइनल, सेमी फाइनल, प्री-फाइनल  आदि में अपनी शानदार प्रस्तुतियों के बल पर 12 प्रतियोगियों ग्रैंड फिनाले तक पहुंचे थे। जिसमें बबिता संचेती, नवीन नाहटा, प्रिया कोठारी, पुलकित खटेड, राहुल बैद, संजू गिडिया, संजय भटेरा, संदीप बरडिया, श्रुति बैद, तारा मनोत, विकास सिंघी और यश बोथरा शामिल थे।  

          अभातेयुप के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भलावत ने कहा कि यह परमपूज्य गुरुदेवश्री की ही कृपा और आशीर्वाद है कि अभातेयुप का समाज की प्रतिभाओं के विकास का यह स्वप्न सरगम के रूप में साकार रूप ले सका। उन्होंने ग्रँड फिनाले तक पंहुचे हर कलाकार को विजेता बताया एवं उनके उज्ज्वल भविष्य की मंगलकामना करते हुए इन कलाकारों को सफल बनाने में अभातेयुप की ओर सेे पूर्ण सहयोग का संकल्प दोहराया। उन्होंने सरगम एवं अभातेयुप की विविध प्रवृत्तियों की सफलता का श्रेय मैं अभातेयुप कार्यकर्ताओं को दिया। उन्होंने महामंत्री विमल कटारिया सहित सभी अभातेयुप पदाधिकारियों के प्रति अपनी भावनाएं व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे पदाधिकारियों का मिलना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। उन्होंने मुंबई में हुए आयोजनों के लिए अभातेयुप मुंबई टीम एवं मुंबई की समस्त तेयुप परिषदों के प्रति साधुवाद प्रकट किया एवं कार्यक्रम प्रायोजक श्री रमेशकुमार धाकड़ परिवार के प्रति आभार व्यक्त किया।  महामंत्री विमल कटारिया ने कहा कि अभातेयुप के प्रतिभावान और युवाओं के प्रेरणास्त्रोत हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भलावत की नई सोच की उपज सरगम ने आज इतिहास रचा है। युवाओं को साथ लेकर चलने वाले हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष की समाज को आगे लेकर चलने की नेतृत्व क्षमता की ही देन है की आज हम इस ऐतिहासिक क्षण का हिस्सा बने है। इससे पहले ऐसी जनमेदनी नहीं देखी, इतना उत्साह हमने नहीं देखा जितना इस सुरो के महासंग्राम में देखा। महासभा अध्यक्ष श्री किशन डागलिया ने अभातेयुप को सफल कार्यक्रम के आयोजन एवं समस्त उपक्रमों  के सफल संचालन हेतु बधाई दी। उन्होंने सभी विजेताओं को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए आचार्य महाप्रज्ञजी की पुण्यतिथि पर आयोजित वृहद कार्यक्रम में सभी को आमंत्रित किया। भारत जैन महामंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष के सी जैन ने कहा मैं सभी प्रतिभागियों को कलाकार कहूंगा क्योंकि ये सभी कलाकार बन चुके है। अब ये सभी फिल्मो में भी भविष्य में गाना गाएंगे ऐसी मंगलकामना करता हूँ। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि सुप्रसिद्ध गायक श्री रूपकुमार राठौड़ ने कहां की यहाँ आकर मुझे इस बात का आभास हो रहा है कि देश में बहुत सी प्रतिभाएं छुपी हुई है। जिसे बाहर निकालने का काम अभातेयुप के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भलावत और उनकी टीम ने किया है। उन्होंने कहा कि- जो सीख कर गाते है वो दिमाग से गाते है पर ये सभी दिल से गाने वाले कलाकार है। श्री सलिल लोढा ने कहा की अभातेयुप के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी भलावत और महामंत्री विमल कटारिया जैसे प्रतिभावान कार्यकर्ता हो तो युवा अपने आप धर्म संघ की प्रभावना में जुड़ जाते है। संगीतकार मनमोहन सिंह जो की पिछले डेढ़ सालों से सभी प्रतिभागियों के साथ रह कर उन्हें निखारने का काम कर रहे थे। उन्होंने कहा की मेरी मेहनत सफल रही है क्योंकि जो आज आपने लोगों के सामने रखा उसने लोगों का जीत लिया। यही मरे लिए गुरुदक्षिणा रही।

          इससे पूर्व कार्यक्रम की शुरुआत नमस्कार महामंत्र के उच्चारण और सभी प्रतिभागियों द्वारा विजय गीत के संगान के साथ हुई। सरगम के संयोजक संजय भंसाली ने स्वागत भाषण देते हुए सभी अतिथियों का स्वागत एवं अभिनन्दन करते हुए सरगम के सफर का विवरण लोगों के सामने रखा। मुंबई आयोजन दायित्व निर्वाहक़ संदीप कोठारी ने अपने विचार रखते हुए कहा कि सरगम का ग्रैंड फिनाले का मुंबई में होना इसका श्रेय राष्ट्रीय अध्यक्ष को जाता है। जिनकी सोच की वजह से सरगम का आयोजन सफल रहा। सरगम ग्रैंड फिनाले के प्रयोजक रमेश धाकड़ ने कहा कि अभातेयुप के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भलावत की वजह से युवाओं में एक अलग सी ऊर्जा का संचार हुआ है। धर्म संघ से जुड़ा हर उपक्रम उनके नेतृत्व में सुचारू रूप से संचालित हो रहा है। उन्ही की मेहनत और नई सोच की उपज है सरगम जो देश के दूरदराज इलाकों से प्रतिभावों को खोज कर यहाँ तक लेकर आये है और उन्हें एक नई पहचान दी है। इसी बीच आचार्य श्री महाश्रमणजी के दीक्षा दिवस - युवा दिवस का बैनर भी लांच किया। साथ ही अध्यक्ष बी सी भलावत और महामंत्री विमल कटारिया एवं टीम ने अभातेयुप का मोबाइल एप लांच किया।

          अभातेयुप उपाध्यक्ष-II मुकेश गुगलिया, कोषाध्यक्ष नवीन वागरेचा, सहमंत्री-I पंकज डागा, सहमंत्री-II सुभाष सिंघी, संगठन मंत्री योगेश चौधरी, महासभा अध्यक्ष किशनलाल डागलिया, कोषाध्यक्ष रमेश सुतरिया, भारत जैन महामंडल के अध्यक्ष के सी जैन, मुंबई सभा अध्यक्ष सुनील कच्छारा, कार्याध्यक्ष मनोहर गोखरू, वरिष्ठ उपाध्यक्ष अजित कोठारी, विजय संचेती, तुलसी महाप्रज्ञ फाउंडेशन अध्यक्ष अर्जुन चौधरी, मंत्री दलपत बाबेल, जय तुलसी फाउंडेशन महामंत्री सलिल लोढ़ा, स्थानकवासी संघ के अध्यक्ष चतरलाल लोढ़ा,महिला मंडल अध्यक्षा भारतीय सेठिया, मंत्री तरुणा बोहरा, अणुव्रत समिति मुंबई अध्यक्ष गणपत डागलिया, मंत्री राजेंद्र मुणोत, जीवन विज्ञान अकादमी मुंबई अध्यक्ष सुरेंद्र कोठारी, मंत्री प्रीतम हिरण, विनोद बोहरा, टीपीएफ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बलवंत चोरड़िया, टीपीएफ मुंबई अध्यक्ष मनीष कोठारी आदि की भी उपस्थिति रही। सरगम के राष्ट्रीय संयोजक मनीष पगारिया ने मंच का कुशल संचालन किया।  लाखों लोगों ने टीवी पर पारस चैनल एवं फेसबुक पर JTN के माध्यम से कार्यक्रम के सीधे प्रसारण को निहारा। 

          अभातेयुप राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भलावत एवं महामंत्री विमल कटारिया के कुशल मार्गदर्शन में राष्ट्रीय संयोजक संजय भंसाली, राष्ट्रीय सह संयोजक मनीष पगारिया, अभातेयुप टीम के मुम्बई से सदस्यों में संगठन मंत्री योगेश चौधरी, मुंबई आयोजन दायित्व निर्वाहक संदीप कोठारी, महेश बाफना, गौतम कोठारी, देवेंद्र डागलिया, जयंती बरलोटा, , संजय बोथरा, समकित पारेख, संदीप कोठारी, जगत संचेती, गौतम डांगी, ललित गुंदेचा, राजेंद्र मुथा, भूपेश कोठारी, विनोद सिंघवी, विमल गादिया, प्रमोद छाजेड़ एवं समस्त मुंबई की तेरापंथ युवक परिषदें इस कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु कई दिनों से श्रम नियोजित कर रही थी। जिसके प्रतिफल स्वरूप यह आयोजन एक ऐतिहासिक आयोजन बन पाया।








Related

Mumbai 1520963324101116548

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item