महासभा अध्यक्ष किशनजी डागलिया ने तेरापंथ सभा के साथ किया विचारों का आदान प्रदान : सिन्धनूर

सिन्धनूर 16•05•17 मंगलवार, कर्नाटक राज्य की सुदूर संगठन यात्रा पर यात्रायित तेरापंथ महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष किशनलालजी डागलिया ने यात्रा क्रम में सोमवार रात्रि 8•30 बजे सिन्धनूर तेरापंथ भवन में सिन्धनूर तेरापंथ श्रृद्धालुओं के साथ महत्वपूर्ण संगोष्ठी कर विभिन्न गतिविधियों व जानकारियों का आदान प्रदान किया।
सिन्धनूर सभा द्वारा आयोजित स्वागत कार्यक्रम में अध्यक्ष किशनजी डागलिया ने महासभा के आयामों पर विस्तृत चर्चा करके ज्ञानशाला संचालन, स्थानीय स्तर पर पारिवारिक सार सम्भाल, महासभा पत्रिका जैन भारती सदस्यता अभियान , कन्याओं के लिए संस्कार निर्माण शिवीर आदि पर उपयोगी उदबोधन दिया। कार्यक्रम में कर्नाटक राज्य प्रभारी दीपचन्द नाहर, शाखा प्रभारी सुरेश कोठारी व कैलाश बोराना ने भी अपने अपने क्रमशः विचार रख महासभा प्रतिनिधि अधिवेशन, संपोषण योजना, उपासक श्रैणी , आचार्य महाश्रमणजी की दक्षिण यात्रा में रास्ते की सेवा आदि विषयों पर विस्तृत जानकारी दी।
सामूहिक नमस्कार महामंत्र उच्चारण से शुरू हुए कार्यक्रम में सिन्धनूर सभा की ओर से उत्तर कर्नाटक के सक्रिय सदस्य और अभातेयुप के निवर्तमान महामन्त्री हनुमान लुंकड ने महासभा प्रतिनिधि मण्डल के प्रति स्वागत भाषण प्रस्तुत करके उपजाऊ एवं ऊर्वरा भूमि सिन्धनूर के तेरापंथ श्रृद्धालुओं में मुमुक्षु आदि बाबत काफी सम्भावनाएँ बताई और इस बाबत विशेष ध्यान देने की आवश्यकता बताकर उन्होंने महासभा अध्यक्ष से गुरूदेव आचार्य महाश्रमणजी के समक्ष सिन्धनूर में चारित्र आत्माओ के चातुर्मास प्रवास और गुरूदेव की कर्नाटक यात्रा बैंगलौर चातुर्मास पश्चात उत्तर कर्नाटक क्षेत्र यात्रा के समय सिन्धनूर को दीक्षा महोत्सव व अक्षय तृतीया जैसे कार्यक्रम मिल सके ऐसी पैरवी करने का अनुरोध किया। सिन्धनूर पश्चात महासभा प्रतिनिधि मण्डल रायचूर प्रस्थान कर गया।उक्त जानकारी सिन्धनूर सभा की ओर से महेन्द्र चौपड़ा गदग ने दी।

Related

Sangathan 6527512110379193482

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item