समाज बेटियों के प्रति दकियानूसी सोच से ऊपर उठे : मुनि श्री सुरेश कुमार जी


आखिर क्यों ?? कन्या सुरक्षा सेमिनार में 600 छात्राओं ने हिस्सा लिया


राजसमंद : 9 नवम्बर, JTN, शहर के सौ फीट रोड स्थित भिक्षु निलयम में तेरापंथ महिला मंडल के निर्देशन में तेरापंथ कन्या मंडल राजसमंद के बैनर तले आचार्य श्री महाश्रमण जी के आज्ञानुवर्ती शासन श्री मुनि श्री सुरेश कुमार जी "हरनावां" के सान्निध्य में आखिर क्यों ? कन्या सुरक्षा सेमिनार आयोजित हुआ। नमस्कार महामंत्रोच्चारण से शुरू हुए सेमिनार के प्रथम चरण के पहले पड़ाव में समागत अतिथियो का तिलक लगाकर व् पंचरंगी ओपरणा ओढ़ाकर अभिनंदन किया गया। 


सेमिनार में उपस्थित 600 छात्राओं को व् विभिन्न संस्थाओं से उपस्थित महिलाओं व् जनमेदनी को संबोधित करते हुए शासन श्री मुनि श्री सुरेश कुमार जी "हरनावां" ने कहा : कन्या स्वमं अपनी हिफाजत करे। खुद को हीन ना माने , समाज में बेटियों के प्रति बनी दकियानूसी सोच के तिलिस्म को तोड़े , अपनी शक्ति का जागरण कर दुनिया को जितने की ओर कदम बढ़ाये।
मुनि श्री सम्बोध कुमार जी ने अपने चुटीले अंदाज में कहा : मेडिक्यूर और पेडिक्योर के दौर में बेटिया सिक्योर नहीं है। देश का कोई भी उत्सव बेटियों के बिना शुरू नहीं होता फिर भी बेटियों को नजरअंदाज करने के जरूरत करते है लोग। मुनि श्री ने "बेटिया हर घर का धन" सुमधुर गीत पेश किया। समण सिद्धप्रज्ञ जी ने कहा : वही विद्यार्थी आगे बढ़ता है जो पांचवी कक्षा से आपने जीवन का लक्ष्य बनाता है। उन्होंने स्किल डेवलपमेंट के प्रेक्षा ध्यान के गुर सिखाते हुए सीधे बैठना , हैण्ड राइटिंग सुधार , मेमोरी पावर व् क्षमता विकास के प्रयोग करवाये। मुख्य अतिथि जिला कलेक्टर पी.सी.बैरवाल : जीवन में आने वाले कल की चुनौतियों के लिये तैयार रहना ही आत्म सुरक्षा है। जिलाधीश ने कन्याओं के लिये चल रही योजनाओं की जानकारी दी।

विशिष्ट अतिथि जिला मेश्वरी महिला मंडल अध्यक्षा श्रीमती पूजा बंग ने कहा : ये वक्त नहीं है सहमने और चुप रहने का , अब बेटियों को खुद की आवाज बनना होगा। कन्या भ्रूण हत्या में देश में बने कानून की जानकारी देते हुए मुख्य वक्ता एडवोकेट नीलम शर्मा ने कहा : पी.एन.डी.सी एक्ट के तहत गर्भ में पल रहे बच्चे का लिंग परीक्षण गर्भपात को अपराध मानने और धारा 313 , 315 में सजा होने की अवगति दी है। 
एंटी साइबर क्राइम अटैक के रहस्यों का प्रशिक्षण देते हुए सोशल मीडिया का उपयोग तभी करने की हिदायत दी , और कहा फेसबुक हो या व्हाट्सएप प्रोफाइल को क्रॉप करते हुए डिस्प्ले प्रोफाइल पर लगाये। अपनी आईडी सिक्योर करें। अपनी निजी जिंदगी को दायरों में रखकर चले तो सायबर के दल दल में धसने से बच सकते है। अखिल भारतीय महिला मंडल राष्ट्रिय कार्यसमिति सदस्य   डॉ नीना कावड़िया - बेटिया सूरज की पहली किरण है जो हर आंगन रोशन करती है। उन्होंने महिला मंडल , कन्या मंडल को सफल आयोजन के लिये बधाई दी।


सेल्फ डिफेन्स ट्रेनर राजकुमार मेनारिया ने कहा : सब कुछ हो रहा है इस तरक्की के ज़माने में , मगर गजब यह है आदमी , इंसान नहीं होता। उन्होंने सेल्फ डिफेन्स के मार्शल आर्ट के गुर सिखाते हुए कहा : हम तभी मरते है जब हम डरते है। आत्म रक्षा अपनी अच्छाई की रक्षा है। कार्यक्रम में तेरापंथ कन्या मंडल द्वारा जागो-जागो कन्याओ थीम पर एक्शन सांग प्रस्तुत किया। स्वागत महिला मंडल अध्यक्षा श्रीमती सीमा धोका व् आभार मंत्री नीता कावड़िया ने किया। मंच संचालन कन्या मंडल संयोजिका हर्षा डागलिया ने व् कन्या भ्रूण हत्या ना करने की शपथ सहसंयोजिका रविना सेठिया ने दिलाया।


कार्यक्रम के सफल आयोजन में श्री रजनीश बोहरा , विकास कोठारी और प्रवीण जी ढिलीवाल का उल्लेखनीय सहयोग रहा। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जिला संयोजिका श्रीमती लता मादरेचा ने कहा : वक्त आ गया है बेटियों को जिम्मेदार होकर , अपनी पहचान कायम करने की और अपने स्वाभिमान को खुद जितने की। कन्या मंडल प्रभारी श्रीमती मीना नवलखा ने कार्यक्रम की भूमिका प्रस्तुत की। जिला कलेक्टर व् समागत अतिथियो का भिक्षु बोधिस्थल अध्यक्ष सुरेश चन्द्र कावड़िया , कार्याध्यक्ष हर्षलाल नवलखा व् तेरापंथ युवक परिषद् मंत्री मनोज कोठारी ने स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया।

Related

Local 6119674003584988057

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item