सोशल मीडिया कार्यशाला दिल्ली

अखिल भारतीय तेरापंथ युवक परिषद के मीडिया प्रकल्प जैन तेरापंथ न्यूज़ के 8वें स्थापना दिवस के अवसर पर शासनश्री मुनिश्री विजय कुमार जी के सान्निध्य में आयोजित सोशल मीडिया कार्यशाला की शुरुवात नमस्कार महामंत्र से हुई। अभातेयुप कार्यकारिणी के सदस्य श्री जतन श्यामसुखा द्वारा श्रावक निष्ठा पत्र का वाचन किया गया। युवकों द्वारा विजय गीत से मंगलाचरण किया गया। तेरापंथ युवक परिषद, दिल्ली के अध्यक्ष श्री राजेश भंसाली ने अध्यक्षीय उद्बोधन में जैन तेरापंथ न्यूज़ को बधाई दी। जैन तेरापंथ न्यूज़ के केंद्रीय प्रतिनिधि श्री विनीत मालू ने जैन तेरापंथ न्यूज़ का परिचय सभी को दिया।  मुख्य वक्ता डॉ. पी.सी. जैन (अध्यक्ष, अणुव्रत समिति दिल्ली/ पूर्व प्रधानाध्यापक, श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स) ने सोशल मीडिया और समय नियोजन को लेकर सारगर्भित वक्तव्य दिया। उन्होंने कहा ग्रुप का एडमिन उस ग्रुप में आने वाली सामग्री को कंट्रोल करे। जिससे ग्रुप के मेंबर्स को बेवजह परेशानी से न हो। तथा सभी को इसके लिए समय निश्चित कर अपना अमूल्य समय उत्पादक कार्यों, सेवा आदि में लगाना चाहिए। वक्ता श्री अरुण संचेती (निवर्तमान महामंत्री, अणुव्रत महासमिति)  ने सोशल मीडिया पे चल रहे टालोकड़ों से संबंधित लोगों  तथा संघ विरोधी लोगों के ग्रुप्स को प्रश्रय न देने की बात कही। और कहा कि हम कुछ भी भेजने से पूर्व उसकी प्रमाणिकता की जांच करें।
इस अवसर पर उद्बोधन देते हुए शासनश्री मुनिवर ने फरमाया वर्तमान समय में सोशल मीडिया संचार पद्धति का महत्वपूर्ण उपक्रम बनता जा रहा है। स्वल्प समय में विश्व के एक कोने से दूसरे कोने तक समाचारों का संप्रेषण इसके द्वारा संभव है। इससे लोगों को सुविधा हुई है तो अनेक प्रकार की कठिनाइयां भी सामने आ रही है। कई बार देखते हैं, छोटे बच्चे भी हाथ में मोबाइल ले कर घंटों-घंटों का समय उसमें देखने में लगा देते हैं। अध्ययन करना, खेलना, भोजन करना आदि सब गौण हो जाते हैं। मोबाइल पर उनकी नजर टिकी रहती है। इस अति का ही परिणाम है कि छोटे छोटे बच्चों की आंखों पर चश्मा चढ़ जाता है, शरीर के दूसरे अंग भी प्रभावित हुए बिना नही रहते। इसी कारण व्यवहार व शिष्टाचार के मानक दिन-दिन चरमरा रहे हैं। यह एक ऐसा नशा है जो शराब से कम हानिकारक नहीं है। बच्चों के माता पिता भी सोशल मीडिया के दुरुपयोग से परेशान हैं। इस दुरुपयोग से बचकर ही सोशल मीडिया अपनी उपयोगिता सिद्ध कर सकता है। इससे पूर्व मुनि श्री प्रतीक कुमार जी ने सोशल मीडिया के गलत उपयोग से सचेत करते हुए कहा कि सोशल मीडिया का उपयोग संघ विरोधी लोग अपना एजेंडा चलाने के लिए कर रहे हैं। ऐसे मैसेज ना तो किसी को आगे भेजने चाहिए। किसी ग्रुप में आते हों तो ऐसे ग्रुप से ही निकल जाना चाहिए। मुनि श्री ने इसे संघ सेवा का ज़रिया भी बताया तथा जैन तेरापंथ न्यूज़ का उल्लेख करते हुए कहा कि JTN उदाहरण है सकारात्मक प्रयोग का। कार्यकर्ता के मूल्यांकन के लिए कहा कि कोई संस्था 8 साल तभी मना सकती जब कार्यकर्ताओं को उनके कार्य का प्रोत्साहन मिलता है। आभार ज्ञापन तेयुप दिल्ली के मंत्री श्री प्रमोद जी संचेती ने किया।कार्यक्रम का कुशल संचालन श्री हेमराज राखेचा ने किया। कार्यक्रम में अभातेयुप के कार्यकारिणी सदस्य श्री जतन श्यामसुखा, तेयुप दिल्ली के निवर्तमान अध्यक्ष कमल गांधी, जुगराज जी डागा, गांधीनगर सभाध्यक्ष श्री सुपारस जी दुगड़, श्री विमल जी गुणेचा, शाहदरा सभा के मंत्री श्री महेंद्र चोरड़िया आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम में लगभग 150 लोगो की उपस्थिति रही।





Related

Social Media 8995372141446397302

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item