आचार्यश्री ने सच्चाई का बताया महत्त्व, आचार्यश्री के दर्शन को पहुंचे वर्तमान व पूर्व विधायक


तेरापंथ के ग्यारहवें अनुशास्ता का ओड़िशा के ग्यारहवें जिले में मंगल प्रवेश
कालाहांडी जिला महातपस्वी के चरणरज से पावन होने वाला बना ग्यारहवां जिला 



05.03.2018 बोर्डा, कालाहांडी (ओड़िशा)ः गत 19 फरवरी से ओड़िशा राज्य के बलांगीर जिले में यात्रायित जैन श्वेताम्बर तेरापंथ धर्मसंघ के ग्यारहवें अनुशास्ता आचार्यश्री महाश्रमणजी अपनी धवल सेना व अहिंसा यात्रा संग मंगलवार को बलांगीर जिले की सीमा को अतिक्रांत कर कालाहांडी जिले में पावन प्रवेश किया। इसके साथ ही कालाहांडी ओड़िशा का ग्यारहवां जिला बना जहां तेरापंथ धर्मसंघ के ग्यारहवें अनुशास्ता के चरणरज पड़े। इसके पूर्व दस जिले अब तक महातपस्वी आचार्यश्री महाश्रमणजी के ज्योतिचरण से ज्योतित हो चुके हैं। 

मंगलवार को प्रातः आचार्यश्री महाश्रमणजी अपनी धवल सेना का कुशल नेतृत्व करते हुए कुरसुड़ से मंगल प्रस्थान किया। आज आचार्यश्री ने कुछ किलोमीटर की दूरी तय करने के उपरान्त गत 19 फरवरी से ज्योतिचरण से ज्योतित हो रहा बलांगीर जिला चरणरज लेकर विदा हुआ तो ओड़िशा का कालाहांडी जिला ऐसे महासंत के चरणरज पाकर पुलकित हो उठा। आचार्यश्री कुल लगभग सात किलोमीटर का विहार कर कालाहांडी जिले के प्रथम पड़ाव बोर्डा में पधारे। आचार्यश्री के आगमन से उत्साहित श्रद्धालुओं ने आचार्यश्री का भावभीना स्वागत किया तो वहीं भाजपा से तीन बार विधायक व श्रम एवं नियुक्ति मंत्री रह चुके श्री प्रदीप्त नायक बीजू जनता दल के वर्तामन विधायक अनाम नायक भी आचार्यश्री की मंगल सन्निधि में उपस्थित हुए और पावन आशीर्वाद प्राप्त किया। वे आचार्यश्री के साथ पैदल भी चले। आचार्यश्री बोर्डा स्थित तेरापंथ भवन में पधारे। 

भवन के समीप बने प्रवचन पंडाल में उपस्थित श्रद्धालुओं को आचार्यश्री ने पावन प्रेरणा प्रदान करते हुए कहा कि दुनिया में सत्य का बहुत महत्त्व है। सत्य लोक में सारभूत है। सत्य ही पृथ्वी को धारण करने वाला, सत्य से ही सूर्य और चंद्रमा प्रकाशमान होता है। मानों सबकुछ सत्य पर निर्धारित होता है। सत्य धर्म का एक आयाम है। 
सत्य विश्वास का स्थान है। सत्य विपत्तियों को नष्ट करने वाला, समस्या को समाप्त करने वाला व समृद्धि को प्रदान करने वाला होता है। सत्य परेशान हो सकता है, सच्चाई के मार्ग पर चलने वाले के सामने संघर्ष आ सकता है, किन्तु वह पराजीत नहीं हो सकता। विजय सत्य की ही होती है। सच्चाई के मार्ग पर चलने वाला साहसी होता है, जो प्रतिष्ठित भी होता है। सच्चाई से आत्मा निर्मल बनती है। आदमी को यथासंभव झूठ बोलने का छोड़ने का प्रयास करना चाहिए तथा सत्य बोलने का प्रयास करना चाहिए। मंगल प्रवचन के उपरान्त आचार्यश्री लोगों को अहिंसा यात्रा की अवगति प्रदान कर लोगों को अहिंसा यात्रा के संकल्प ग्रहण करवाए। इस दौरान आचार्यश्री ने बोर्डावासियों को सम्यक्त्व दीक्षा भी ग्रहण करवाई। 

पूर्व श्रम व नियुक्ति मंत्री तथा पूर्व विधायक श्री प्रदीप्त नायक ने आचार्यश्री का मंगल प्रवचन सुनने व संकल्प ग्रहण करने के उपरान्त अपनी भावना व्यक्त करते हुए कहा कि आज हमारे क्षेत्र में आचार्यश्री महाश्रमणजी का आगमन हुआ है। जिस प्रकार अपने भक्तों को आशीर्वाद देने के लिए भगवान जगन्नाथ वर्ष में एकबार मंदिर से बाहर निकलते हैं, उसी प्रकार आप भी अपने भक्तों को दर्शन देने के लिए अपनी अहिंसा यात्रा संग यहां पधारे हैं। इसके उपरान्त बोर्डा तेरापंथी सभा के अध्यक्ष श्री जगदीश जैन, तेयुप अध्यक्ष श्री अरिहंत जैन ने अपनी भावाभिव्यक्ति दी। महिला मंडल की सदस्याओं ने स्वागत गीत का संगान किया। इस दौरान इस क्षेत्र के वर्तमान विधायक श्री अनाम नायक, पूर्वतन भाजपा के उपाध्यक्ष व जिला जनसंपर्क अधिकारी श्री बिरदीचंद जैन व बोर्डा की सरपंच श्रीमती रीना रानी जाल भी उपस्थित रहे। सभी को आचार्यश्री ने मंगल आशीष प्रदान किया। 

Related

Pravachans 6896560412347232778

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item