क्षमा याचना दिवस पर पीलीबंगा में हुआ मुमुक्षु बहनों का अभिनंदन

पीलीबंगा : पर्वाधिराज संवत्सरी का सार पूर्ण दिवस क्षमापना के अवसर पर साध्वी श्री गुप्तीप्रभाजी के सानिध्य में एक तरफ मैत्री का महान मौका दूसरी तरफ पर्युषण यात्रा में सूरतगढ से पधारी हुई मुमुक्षु बहनो का हार्दिक अभिनंदन ।
इस अवसर पर सर्वप्रथम द्वार पर तेरापंथ महिला मंडल ने मधुर स्वर लहरियों से स्वागत करते हुए उनके भव्य भाल पर मंगल तिलक एवं माल्यार्पण का मंजूल दृश्य प्रस्तुत किया ।
तत्पश्चात इस अवसर पर सर्वप्रथम द्वार पर तेरापंथ महिला मंडल ने मधुर स्वर लहरियों से स्वागत करते हुए उनके भव्य भाल पर मंगल तिलक एवं माल्यार्पण का मंजूल दृश्य प्रस्तुत किया । मुमुक्षु डॉक्टर प्रियंका ने अपनी जन्म भूमि से अभिनंदन करते हुए मुमुक्षु धरती का भावात्मक परिचय प्रस्तुत किया । मुमुक्षु आंचल ने सुमधुर गीत से सबको मंत्रमुग्ध कर दिया । महिला मंडल की बहनों ने "बैरागन थारी  पुणवाणी रा गौरव गीत सुनावां" सुंदर गीत प्रस्तुत किया । साध्वी श्री कुसुमलता जी, मौलिकयशाजी एवं भावितयशा जी ने अपने अपने अनुभवों के साथ औजस्वी भाषा में अभिव्यक्ति दी । सभी संस्थाओं के पदाधिकारियों ने अपने विमल विचारों से अभिनंदन किया । साध्वीश्री ने कहा- मुमुक्षु  बन संयम पथ पर जाना अभ्युदय की दिशा में एक साहसिक कदम है । यह वीर बालाएं शासन की चंदनबालाए बनने के लिए प्रस्थान कर रही है इनका जितना अभिनंदन करें उतना अल्प है ।" भवन में उपस्थित प्रत्येक ने तीन मुमुक्षुओं का तीन संकल्पों द्वारा अभिनंदन किया ।  
मुमुक्षु धरती ने अपने प्रति मंगल कामना करते हुए कहा "मैं अपने नाम के अनुसार धरती सा धैर्य और सहिष्णुता की साधना में आप सबकी मंगल भावनाओं को साथ लेकर शिखरों का यात्रा करूं यही काम्य  है । समाज द्वारा सामूहिक पारणे की व्यवस्था कर मैत्री का उदाहरण प्रस्तुत किया । कार्यक्रम का कुशल संचालन ओम पुगलिया ने किया ।

Related

Terapanth 4334966460410126425

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item