Top Ads

जैन दीक्षा महोत्सव एवं वर्धमान महोत्सव का आयोजन 18 जनवरी 2020 को गदग कर्णाटक में

तेरापंथ सरताज, आचार्य श्री महाश्रमण जी के वरदहस्त से गौरवशाली
 जैन तेरापंथ धर्मसंघ में दीक्षित होकर साध्वी बनेंगी तीन मुमुक्षु बहिनें


गदग, कर्णाटक, एक्सक्लुसिव रिपोर्ट अभातेयुप जैन तेरापंथ न्यूज़ 

अहिंसा यात्रा प्रणेता आचार्य श्री महाश्रमण जी 
तीर्थंकर के प्रतिनिधि, अहिंसा यात्रा के प्रणेता आचार्य श्री महाश्रमण जी अपनी श्वेतसेना के साथ जनकल्याण हेतु हजारों किमी की पदयात्रा करते हुए उत्तरी कर्णाटक क्षेत्र में विचरण कर रहे है । गांव-गांव, शहर-शहर महातपस्वी महामनस्वी आचार्य श्री महाश्रमण जी सद्भावना, नैतिकता एवं नशामुक्ति जैसे अनेकों विषयों पर प्रेरणा देते हुए समाज एवं राष्ट्रकल्याण सहित विश्व शांति हेतु निरंतर कार्यरत है ।
यूंतो दिल्ली के लालकिले से 9 नवंबर 2014 से आचार्य प्रवर की अगुवाई में शुरू हुई अहिंसा यात्रा ने अनेकों कीर्तिमान रचे है, किंतु अभी उत्तर कर्णाटक में गतिमान अहिंसायात्रा के तहत 18 जनवरी को एक नया कीर्तिमान बनने जा रहा है, जो तेरापंथ धर्मसंघ के उज्ज्वल इतिहास में  स्वर्णाक्षरों से अंकित होगा ।

तीन मुमुक्षुरत्न होंगे श्रीचरणों में समर्पित

अपने मनुष्य जन्म को सार्थक बनाने, जैन तेरापंथ धर्मसंघ में दीक्षित होकर, श्रीचरणों में समर्पित होकर संयम मार्ग पर अग्रसर होने जा रही है मुमुक्षु सोनल पालगोता, मुमुक्षु श्रुति चोपड़ा, मुमुक्षु रौनक बाफना ।  तीनों मुमुक्षु बहिनों की दीक्षा परम पूज्य आचार्य श्री महाश्रमण जी के करकमलों से दिनांक 18 जनवरी 2020 को गदग, कर्णाटक में होगी । 

तेरापंथ धर्मसंघ के इतिहास में उत्तरी कर्णाटक क्षेत्र में ऐसा अवसर 1968 के बाद यानी करीब 51 वर्षों के बाद आएगा । इसलिए सम्पूर्ण उत्तर कर्णाटकवासी इस अवसर को यादगार एवं एतिहासिक बनाने हेतु सज्ज हो चुके है । दिनांक 17 जनवरी - गदग नगरप्रवेश एवं 18 जनवरी को आयोजित होने वाले वर्धमान महोत्सव एवं दीक्षा महोत्सव के कार्यक्रम की तैयारीयाँ चरम पर है ।

मुमुक्षु सोनल पालगोता

  • जन्म तारीख : 4 मई 1989
  • स्थान : पचपदरा
  • माता-पिता का नाम : श्रीमती अचलादेवी पालगोता,
  • श्री प्रकाशचन्द पालगोता, 
  • अध्ययन : बी बी ए ,एम ए (जैनोलॉजी)
  • संस्था प्रवेश : 18 अक्टूबर 2013
  • दीक्षा आदेश : 27 अगस्त 2019 (बैंगलोर)


मुमुक्षु श्रुति चोपड़ा

  • जन्म तारीख : 17.12.2002
  • स्थान : कोप्पल (कर्नाटक)
  • माता-पिता  का नाम : श्रीमती सविना चौपड़ा, श्री मनोज कुमार चौपड़ा 
  • अध्ययन : द्वितीय PUC 
  • संस्था प्रवेश : 17.07.2013
  • दीक्षा आदेश : 27 अगस्त 2019 (बैंगलोर)

मुमुक्षु रौनक बाफना

  • जन्म तारीख : 29 मार्च 1995
  • स्थान : असाडा
  • माता-पिता का नाम : श्रीमती पुष्पा देवी बाफना, स्व.धनराज जी बाफना, 
  • अध्ययन : एम ए (संस्कृत)
  • संस्था प्रवेश : 27 जनवरी 2013
  • दीक्षा आदेश : 27 अगस्त 2019 (बैंगलोर)





Post a Comment

1 Comments

  1. नोरतन ओसवालJanuary 16, 2020 at 6:46 PM

    ॐ अर्हम

    ReplyDelete

Leave your valuable comments about this here :