अध्यात्म साधना केन्द्र दिल्ली में ज्ञानशाला रजत जयंती समारोह

अध्यात्म साधना केन्द्र दिल्ली में मुनि श्री सुमेरमल जी 'सुदर्शन' के सहवर्ती मुनि श्री जयंत कुमार जी के सान्निध्ध में मनाया गया। मुनिश्री ने कहा- ज्ञानशाला आचार्य श्री तुलसी की दूरदृष्टी का परिणाम है ।इससे शुभ भविष्य का निर्माण हो रहा है यह भाग्य से प्राप्त हुई सम्पदा है। मुनि श्री अनुशासन कुमार ने 'श्रेष्ठ बालक' गीत का संगान किया । बच्चों की रोचक और प्रेरक प्रस्तुति ने दर्शकों का मन मोह लिया। तेरापंथी सभा दिल्ली के अध्यक्ष श्री गोविन्द बाफना, महामंत्री श्री आसकरण आंचलिया , दिल्ली ज्ञानशाला संयोजक श्री रतनलाल जैन, आंचलिक संयोजिका सरोज छाजेड़ ,मनफूल बोथरा, अणुव्रत न्यास के प्रबन्ध न्यासी श्री सम्पत नाहटा,अमृत वाणी के अध्यक्ष श्री सुखराज सेठिया, दिल्ली महिला मंडल अध्यक्षा श्रीमती पुष्पा बोकडिया, सहसंयोजक श्री अशोक बैद आदि गणमान्य व्यक्तियों के प्रासंगिक वक्तव्य हुए। दिल्ली ज्ञानशाला की निर्दशिका का लोकार्पण किया गया। प्रशिक्षक परीक्षा - 2016 के प्रमाण पत्र वितरित किए गए । कुशल संयोजन प्रेक्षा सुराणा तथा पूजा सेठिया ने किया ।


Related

Local 3139360224561268430

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item