Life Management Workshop : अहमदाबाद

31 जुलाई, मुनिश्री राकेशकुमारजी के सानिध्य में तेरापंथ प्रॉफेशनल फोरम - अहमदाबाद द्वारा पंचदिवसिय लाइफ मैनेजमेंट वर्कशॉप भावनात्मक विकास पर आयोजित हुआ।
Emotional Intelligence  पर मुनि श्री सुधाकरजी ने बताया कि आचार्य श्री महाप्रज्ञ जी विकास के ४ सुत्र दिए।
१ शारीरिक विकास
२ बौद्धिक विकास
३ मानसिक विकास
४ अधात्यमिक विकास ।
बौद्धिक विकास से अज्ञानता दुर हुई है पर मुड़ से कार्य करने की शैली बढ़ गई  है। भावनात्मक का पहला सुत्र मुड़ मेनेजमेन्ट। मुड़ मेनेजमेन्ट का सार भगवान महावीर ने ५ जोड़ों से दिया।
१ लाभ- अलाभ
२ सुख - दुख
३ जन्म - मृत्यु
४ यश - अपयश
५ मान - सम्मान
इन पांचो स्थिति में सम रहे। उन्नत विचार, व्यवहार से भावनात्मक विकास के लिए आवश्यक है । दुसरा सुत्र फल की आशा से ऊपर उठ कर कार्य करना चाहिए। तीसरा सुत्र हर परिस्थिति की तैयारी हमेशा रहनी चाहीए । यह है तो कठिन पर प्रयास करना ही होगा ।  किसी के काम मे अकारण नहीं घुसना चाहिए।  चौथा सुत्र IQ  लेवेल के साथ EQ लेवेल भी होना चाहीए।
कार्यक्रम का प्रारम्भ दिव्या परमार, पुजा चोपड़ा, अंजु मेहता, रीना संकलेचा व विनीता गुगलिया के मंगलाचरण से हुआ । स्वागत वक्तव्य TPF  के अध्यक्ष श्री विमल चोरडिया व् आभार ज्ञापन उपाध्यक्ष श्री राकेश गुगलिया ने किया । कार्यक्रम मे  श्रीमती कोमल सैखानी वक्यत्व हुआ। मुस्कान गुगलिया ने अपने वक्यत्व मे वर्कशोप से हुए लाभ के विषय मे बताया। संचालन सह मंत्री कमल दक ने दिया ।

Related

TPF 770961333423059181

Post a Comment Default Comments

Leave your valuable comments about this here :

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments





Total Pageviews

item